Home Top Ad

तुलसी काव्य प्रतियोगिता में मेरा गांव_saroj meti

Share:
*गाँव मेरा*

गाँव मेरा है बडा प्यारा,
दुनिया में सबसे न्यारा।

सह्याद्री के उस पार मेरा गाँव
गेहूँ - गन्ने की पडी हैं छाँव,
कावेरी मेरे गाँव की गंगा 
खेती ही किसान का धंधा ।

घर -घर में अनाज का है 
भंडार,
हर दिलों में छिपी है प्रेम सागर,
मदद के हाथ बढाते हैं सब,
गाँ मे सुख -शांति दिय है रब। 

गाँव  मेरा है बडा़ प्यारा ,
दुनिया में सबसे न्यारा।


आओ मित्र यहाँ, तुम्हें स्वागत है,
देखो, भारत समा है मेरे गाँव में
 खेलतें हैं बच्चें ,गली- गली में, 
हर बगीचे में फल- फूल भरे हैं। 


गाँव  मेरा है बडा़ प्यारा 
दुनिया में सबसे न्यारा।

आंगन में हैं तुलसी-हीना बिरवा ,
राम -रहिम मिटातें हैं द्वेष  कडुआ,
मेरे लोग जाति -धर्म से दूर खडे,
भाईचार-सदाचार से सब हैं अडे।

गाँ मेरा  है बडा़ प्यारा,
दुनिया में सबसे न्यारा।

पूष की ठंड कश्मीर की याद ,
मोगरे महक, वाह.. खीर की स्वाद,
तीज मनाते गाँ की ललनाएँ
कसरत में अव्वल हैं युवाएँ।

गाँव मेरा है बडा़ प्यारा 
दुनिया में सबसे न्यारा।

पंच परमेश्वर यहाँ हैं पूजतें,
भगत सुजान हैं धर्म निभातें।बागिया में गाँ मेरा सदा बहार 
हर किसी को देते हैं सत्कार।


गाँव मेरा है बडा़ प्यारा ,
दुनिया में सबसे न्यारा।
 


डाॅ. सरोजा मेटी लोडा़य कर्नाटक ।

18 comments

Unknown said...

Bahut sundar kavita

hirasingh said...

बहुत ही शानदार 🎊 🎊 🎊 🎊 🎊 बधाई एवं शुभकामनाएं जी 🙏 🙏 🙏 🙏

Unknown said...

सुपर

राजकुमार जैन राजन said...

आज भी गाँव सबको लुभाते हैं, प्यारे लगते हैं, सुकून देते हैं। भयत ही सुंदर व उम्दा रचना के लिए हार्दिक बधाई

Unknown said...

Fabulous mam 🌠

My first blog said...

Ur really talented very nice madam 👍

पवन तिवारी said...

सुंदर रचना,बधाई💐💐💐

Unknown said...

Wah

Anonymous said...

Mind blowing mam..������

Unknown said...

💐अति सुंदर

Unknown said...

Mind blowing Mam👌

Unknown said...

Sundar kavita

Unknown said...

bahuta accha.Madam,👌

Monica Nutan said...

Beautiful words madam��

Unknown said...

👏👌🌹😍 mera gaon pyara bahut sundar kavita hain 💥😍👌🌹👏

Anonymous said...

Bahut achcha

Unknown said...

Beautiful writen mam👌👌

Unknown said...

Beautiful madam