Type Here to Get Search Results !

दो घड़ी ठहर जा जिंदगी-sitaram


"सच बोलने वालों के मुँह में सच्ची जुबान अभी बाकी है"
        *******
दो घड़ी ठहर जा जिंदगी वो हंसी मेहमान अभी बाकी है

अभी हल्की हवा चली है अभी तो तूफान बाकी है।

बड़ी मुश्किल से  तन्हाई ने मेरे दामन को छोड़ा है

अभी तो साथ है तेरा दिल के सारे अरमान अभी बाकी है।

तूने तो जिंदगी हमेशा से ही  मेरा कठिन इम्तिहान लिया है

अभी तो मेरा असली इंतिहान लेना अभी बाकी है।

अभी तो सर भी कलम होंगे हमारे भी इस फ़ानी दुनिया में

सच बोलने वालों के मुँह में सच्ची जुबान अभी बाकी है।

तेरे लिए हुए इम्तिहान दे देकर अब थक चुका हूं मैं

 मैं अभी तैयार हूं लेना हो ले ले कोई नया इम्तिहान गर बाकी है।

इंसानियत तो कब की मर भी चुकी इस जहान में

लेकिन सच्चा ईमान वाला जिंदा इंसान अभी बाकी है।

तेरे जाने के बाद तो ये दुनिया वीरान हो जाएगी

जमीं पर जगह मिल ना सकी ये शमशान अभी बाकी है

सीताराम पवार
उ मा वि धवली
जिला बड़वानी
9630603339

Post a Comment

1 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
बहुत ही शानदार गुरुदेव