Type Here to Get Search Results !

भव्य तरीके से निकला स्वर्ण जयंती समारोह का जय हिंद मार्च

भव्य तरीके से निकला जिला स्थापना दिवस स्वर्ण जयंती समारोह का जय हिंद मार्च

औरंगाबाद ,(अकेला न्यूज)।जिला मुख्यालय में जनेश्वर विकास केंद्र और जन विकास परिषद की ओर से औरंगाबाद जिला स्थापना दिवस स्वर्ण जयंती एवं सुभाष चंद्र बोस की जयंती समारोह का श्री गणेश जय हिंद मार्च से किया गया,जिसमें समाज के प्रबुद्ध वर्ग,
शिक्षाविद, साहित्यकर्मी,कलाकर्मी, विशेष रुप से विद्यालय में बच्चों ने सहभागिता निभाई।
      यह मार्च महाराणा प्रताप चौक से प्रारंभ होकर रमेश चौक स्थित स्वतंत्रता सेनानी राजा नारायण सिंह पार्क तक संपन्न हुआ। 
      सर्वप्रथम आगत अतिथियों ने महाराणा प्रताप एवं भामाशाह  की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि दी। सभी के हाथों में तिरंगा के साथ भारत माता की जय घोष,
भारत माता की जय,वंदे मातरम,सुभाष चंद्र बोस जिंदाबाद 'के नारों से लोगों के मन में राष्ट्र प्रेम की भावना छलक रही थी।इसके साथी जिला स्थापना दिवस के आलोक में औरंगाबाद का सतत विकास से संबंधित नारे वातावरण में उत्साह पैदा कर रहे थे।                    औरंगाबाद का विकास निरंतर हो,इस प्रकार के नारेबाजी से पूरा वातावरण
गुंजायमान हो रहा था। 
      जय हिंद मार्च का नेतृत्व समिति के सचिव एवं समाज सेवी सिद्धेश्वर विद्यार्थी ,प्रो  रामाधार सिंह,डॉ सुरेंद्र प्रसाद मिश्र,पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष रामानुज पांडेय, पुरुषोत्तम सिंह, मुरलीधर पांडेय,लव कुश प्रसाद सिंह, झारखंडी महोत्सव के अध्यक्ष श्री राजेंद्र सिंह, सचिव अरुण सिंह एवं कविता विद्यार्थी कर रहे थे।कार्यक्रम में महाराणा प्रताप चौक होते हुए रमेश चौक तक हजारों की संख्या में स्थानीय प्रबुद्ध जन एवं बच्चे शामिल हुए।
        राजा नारायण सिंह पार्क में आकर क्रमशः स्वतंत्रता सेनानी राजाराम सिंह रमेश कुमार चौक पर स्थापित रमेश बापू की प्रतिमा, बिहार विभूति अनुग्रह नारायण सिंह,श्री कृष्ण सिंह ,बाबासाहेब आंबेडकर बापू की प्रतिमा  पर माल्यार्पण कर लोगों ने अपनी श्रद्धा निवेदित की ।हाथों में तिरंगा लिए बच्चे  लगातार नारे लगाते काफी खूबसूरत दिख रहे थे ,मानो कल का भारत उनके हाथों में पूरी तरह सुरक्षित हो।
        इस मार्च में मुख्य रूप से और जिन लोगों ने अपनी सहभागिता निभायी उनमें अधिवक्ता कमलेश कुमार सिंह, आप,
विकलांग संघ के अध्यक्ष विनोद कुमार, दूधेश्वर पासवान प्रभृति सज्जन शामिल थे।
    जिले के समग्र विकास के मूल्यांकन हेतु 'औरंगाबाद जिला कल आज और कल 'विषयक संगोष्ठी स्थानीय  रामनरेश सिंह संस्कृत महाविद्यालय में 1:00 से संपन्न करने का संकल्प व्यक्त किया गया। सचमुच 'जय हिंद मार्च ने जिला मुख्यालय के बासियों के मन मस्तिष्क पर एक अत्यंत ही सकारात्मक अमिट छाप छोड़ी।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.